Friday, September 14, 2012

राज्‍यों के मंत्रियों और सचिवों के सम्‍मेलन का उद्घाटन

पूर्ण महिला शक्ति विकास केंद्रों के विस्‍तार की संभावना बताई
परिव्‍यय में काफी बढ़ोत्‍तरी हो सकती है:महिला/बाल विकास मंत्री
महिला व बाल विकास मन्त्रालय के स्वतंत्र कार्यभार की राज्य मंत्री सुश्री कृष्णा तीर्थ नई दिल्ली में 13 सितम्बर 2012 को  हुए सम्मेलन में संबोधित करते हुए। इन यादगारी पलों को पत्र सूचना कार्यालय के छायाकार ने झट से अपने कैमरे में हमेशा के लिए संजो लिया। 
महिला एवं बाल विकास पर दो दिवसीय सम्मेलन नई दिल्ली में 13 सितम्बर 2012 को शुरू हुआ। इसका उद्घाटन करती हुयीं महिला व बाल विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र कार्यभार) सुश्री कृष्णा तीर्थ ज्योति प्रज्वलित करते हुए। (फोटो पीआईबी)  
महिला और बाल विकास मंत्री ने आज नई दिल्‍ली में विभिन्‍न राज्‍यों के मंत्रियों और सचिवों के दो दिन के सम्‍मेलन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्‍होंने मंत्रालय की स्‍कीमों को सफल बनाने में राज्‍यों की भूमिका को बहुत महत्‍वपूर्ण बताया और कहा कि इस सम्‍मेलन का उददेश्‍य इन स्‍कीमों को लागू करने के बारे में राज्‍यों की राय जानना है क्‍योंकि उनके पूरे सहयोग के बिना मंत्रालय द्वारा तय लक्ष्‍य पूरे नहीं किये जा सकते। उन्‍होंने कहा कि 12वीं योजना तय की जा रही है और हमारे मंत्रालय के परिव्‍यय में काफी बढ़ोत्‍तरी हो सकती है। उन्‍होंने आजमाइश के तौर पर खोल गए पूर्ण महिला शक्ति केंद्रों की चर्चा की और कहा कि इस स्‍कीम की सफलता के लिए कई मंत्रालयों के सहयोग की जरूरत है। महिला और बाल विकास मंत्री ने कहा कि जल्‍दी ही अन्‍य राज्‍यों में ऐसे ही केंद्र खोले जाएंगे। 

झारखंड, छत्‍तीसगढ़ , हरियाणा, पंजाब, बिहार, नगालैंड , नर्इ दिल्‍ली , कर्नाटक, असम, आंध्रप्रदेश और मध्‍य प्रदेश के महिला और बाल विकास से संबद्ध मंत्री और वरिष्‍ठ अधिकारी इस सम्‍मेलन में मौजूद थे। 

सम्‍मेलन में महिला और बाल विकास मंत्रालय के तरफ से एसटीईपी, स्‍वाधार, उज्‍वला जैसे विषयों पर प्रेजेंटेशन दिखाए गए। (पत्र सूचना कार्यालय)

13-सितम्बर-2012 18:51 IST
***

No comments:

Post a Comment