Thursday, September 6, 2012

मकसद:महिलाओं को सम्‍मान की आजीविका


डॉ. फारूख अब्‍दुल्‍ला ने लॉन्‍च किया पर्यावरण अनुकूल इलेक्‍ट्रिक रिक्‍शा
सामाजिक और आर्थिक हैसियत में गहरे लिंग-भेद को मिटाने की दिशा में पहल करते हुए केन्‍द्रीय नवीन एवं नवीकरण उर्जा मंत्री डॉ. फारूख अब्‍दुल्‍ला ने आर्थिक रूप से पिछड़ी महिलाओं को सशक्‍त करने के लिए आज ‘उम्‍मीद की इलेक्ट्रिक रिक्‍शा’ का वितरण किया। दिल्‍ली के जामिया नगर में आयोजित एक कार्यक्रम में डॉ. फारूख अब्‍दुल्‍ला ने 33 साल की महिला कोहिनूर को पहली इलेक्ट्रिक रिक्‍शा सौंपी। कोहिनूर दो बच्‍चों की अकेली मां है और साथ में उनकी बूढ़ी मां भी रहती हैं।

इस मौके पर डॉ. फारूख अब्‍दुल्‍ला ने कहा कि वे कोहिनूर को उम्‍मीद की पहली रिक्‍शा सौंपकर काफी खुश हैं। देखने में ये रिक्‍शा काफी सुन्‍दर है, इसे चलाना आसान है और इससे कोई प्रदूषण नहीं होता है। उन्‍होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों के बीच इलेक्‍ट्रिक रिक्‍शा एक अच्‍छा विकल्‍प है। साथ ही डॉ. फारूख ने वहाँ मौजूद लोगों से कहा कि घर-घर सोलर वाटर हीटर पहुंचाने में भी उनका मंत्रालय पूरा सहयोग करेगा।

इस पहल में आर्थिक और सामाजिक रूप से दरकिनार महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए काम कर रही उम्‍मीद और सेंटर फॉर इक्विटी और एन्‍क्‍लुजन संस्‍था भी भागीदार है। इस पहल का मकसद पर्यावरण अनुकूल इस इलेक्ट्रिक रिक्‍शे से महिलाओं को इज्‍जत की रोटी कमाने का मौका उपलब्‍ध कराना है। उम्‍मीद संस्‍था ने इसके लिए महिलाओं को प्रशिक्षित करने और रिक्‍शे के रख-रखाव का भी वादा किया है। (पीआईबी)
                                              06-सितम्बर-2012 20:44 IST
***

No comments:

Post a Comment